Englishಕನ್ನಡമലയാളംதமிழ்తెలుగు

अशोक डिंडा और मनोज तिवारी को मौका मिलना चाहिए था : सौरव गांगुली

Posted by:
     Published: Tuesday, November 6, 2012, 18:07 [IST]
 

अशोक डिंडा और मनोज तिवारी को मौका मिलना चाहिए था : सौरव गांगुली
 

कोलकाता। बीसीसीआई की नई चयन समिति द्वारा टीम इंडिया के चयन से भारत के पूर्व कप्‍तान सौरव गांगुली खुश नहीं हैं। उनका कहना है कि टीम चयन में अशोक डिंडा और मनोज तिवारी जैसे युवा खिलाडि़यों की अनदेखी की गई है। जिन्‍होने पिछले कुछ समय में अपनी प्रतिभा के साथ न्‍याय किया है। मनोज तिवारी ने इंग्‍लैंड के खिलाफ भारत 'ए' की तरफ से खेलते हुए शानदार 93 रनों की पारी खेली लेकिन युवराज द्वारा पांच विकेट लिये जाने से उन्‍हें नजरअंदाज कर दिया गया। युवराज ने बल्‍लेबाजी करते हुए एक अर्द्धशतक भी बनाया था।

मनोज तिवारी को पहले भी कई बार नजरअंदाज किया गया है। उन्‍हें रोहित शर्मा और युवराज के न फिट होने पर ही टीम में खिलाया गया है। सौरव के अनुसार अशोक डिंडा और तिवारी टीम इंडिया में शामिल होने की योग्‍यता रखते हैं लेकिन अब तक उनका टीम में न चुना जाना टीम हित में नहीं है।

तिवारी ने भारत की तरफ से आठ एकदिवसीय मैचों में प्रभावशाली प्रदर्शन करते हुए 35.58 की औसत से 251 रन बनाये हैं। जिसमें उन्‍होने पिछले वर्ष वेस्‍टइंडीज टीम के खिलाफ एक शतक भी लगाया था। अशोक डिंडा ने भी प्रभावशाली प्रदर्शन करते हुए पांच टी20 मैचों में 10 विकेट लिये हैं वहीं दस ए‍कदिवसीय मैचों में 9 विकेट लिये हैं।

सौरव के अनुसार बेहतर प्रदर्शन के बावजूद इन खिलाडि़यों को मौका नहीं दिया गया। उन्‍होने ईशांत के टीम में चुने जाने पर कहा कि डिंडा ने वर्ष 2011 में बेहतर प्रदर्शन करते हुए घरेलू क्रिकेट में सर्वाधिक विकेट लिये लेकिन इसके बावजूद उनकी जगह इशांत को प्रमुखता दी गई।

मनोज तिवारी ने 57 प्रथम श्रेणी मैचों में 4,335 बनाये हैं जिसमें उन्‍होने 11 शतक और 16 अर्द्धशतक लगाये हैं। वहीं अशोक डिंडा ने 46 प्रथम श्रेणी मैचों में 175 विकेट लिये हैं। जिसमें वह 12 बार एक पारी में पांच विकेट लेने में कामयाब रहे हैं।

English summary
Sourav Ganguly expressed his disappointment over Team India's squad for the first two Tests against England and felt Manoj Tiwary and Ashok Dinda should have been picked.
कमेंट लिखें