Englishಕನ್ನಡമലയാളംதமிழ்తెలుగు

हाईकोर्ट के निर्णय से मिली राहत: मोहम्‍मद अजहरूद्दीन

Posted by:
     Published: Friday, November 9, 2012, 13:05 [IST]
 

हाईकोर्ट के निर्णय से मिली राहत: मोहम्‍मद अजहरूद्दीन
 

नई दिल्‍ली। आन्‍ध्रपदेश हाई कोर्ट द्वारा आजीवन प्रतिबंध हटाने पर भारत के पूर्व कप्‍तान मोहम्‍मद अजहरूद्दीन ने कहा है कहा है कि अब वह राहत महसूस कर रहे हैं। हाईकोर्ट ने बीसीसीआई के निर्णय पर सवाल उठाते हुए कहा कि तीन सदस्‍यीय टीम द्वारा किसी खिलाड़ी को खेल से आजीवन प्रतिबंधित करने का कोई हक नहीं है। गौरतलब है कि मैच फिक्सिंग में शामिल होने के कारण बीसीसीआई की तीन सदस्‍यीय टीम ने सन 2000 में अजहरूद्दीन पर आजीवन प्रतिबंध लगा दिया था। जिसके खिलाफ इस पूर्व खिलाड़ी ने आन्‍ध्र प्रदेश हाईकोर्ट में अपील की थी। जिस पर कोर्ट ने अजहरूद्दीन का समर्थन किया है।

49 वर्षीय भारत के इस पूर्व खिलाड़ी ने कहा कि कोर्ट के इस निर्णय से मुझे राहत मिली है, मेरे साथ जो कुछ भी हुआ उसके लिए मैं किसी को दोष नहीं देना चाहता। 99 टेस्‍ट मैचों में भारत का प्रतिनिधित्‍व करने वाले अजहरूद्दीन ने कहा कि अब मैं भविष्‍य की तरफ देख रहा हूं,यह सब किस्‍मत के कारण ऐसा हुआ।

क्रिकेट के मैदान में फिर वापसी के सवाल पर अजहरूद्दीन ने कहा कि अब मै इस उम्र में क्रिकेट नहीं खेलना चाहता बल्कि अपने अनुभवों को युवा खिलाडि़यों के साथ बांटना चाहता हूं। मैं जानता हूं कि मैंने कुछ भी गलत नहीं किया है, हालां‍कि उन्‍होने हैंसी क्रोनिये प्रकरण पर कुछ भी बोलने से इनकार कर दिया और कहा कि अब वह हमारे बीच नहीं हैं। मैं अपने प्रशंसकों को और हैदराबाद के लोगों को धन्‍यवाद कहना चाहता हूं‍ कि उन्‍होने इस लंबे संघर्ष में मेरा साथ दिया।

अजहरूद्दीन ने 99 टेस्‍ट मैंचों में भारत का प्रतिनिधित्‍व करते हुए 22 शतक और 21 अर्द्धशतकों की मदद से 6215 रन बनाये वहीं 334 एकदिवसीय मैचों में 7 शतक और 58 अर्द्धशतकों की मदद से 9378 रन बनाये। प्रतिबंध हटने के बाद क्रिकेट विशेषज्ञ के तौर पर वह वापसी कर सकते हैं।

English summary
Former India cricketer Mohammad Azharuddin, after Andhra Pradesh High Court's ruling, said it brought a lot of relief, during an interaction with media on Thursday.
कमेंट लिखें