Englishಕನ್ನಡമലയാളംதமிழ்తెలుగు

धोनी को सिर्फ एक फार्मेट का कप्‍तान ही रहना चाहिए: सौरव गांगुली

Posted by:
     Published: Monday, December 10, 2012, 16:52 [IST]
 

नई दिल्‍ली। टीम इंडिया के टे‍स्‍ट में खराब प्रदर्शन के बारे में पूर्व कप्‍तान सौरव गांगुली का कहना है कि महेंद्र सिंह धोनी पर तीनों ही फार्मेट में कप्‍तानी करने का दबाव है इसलिए वह खुद भी बेहतर प्रदर्शन नहीं कर पा रहे हैं। सौरव का कहना है कि वह विकेट कीपिंग करते हैं जो‍ कि कभी भी आसान नहीं होती है, कीपिंग करते समय खिलाड़ी प्रत्‍येक क्षण खेल से जुड़ा रहता है जबकि बाकी फील्‍डरों को कुछ समय मिल जाता है।

धोनी को सिर्फ एक फार्मेट का कप्‍तान ही रहना चाहिए: सौरव गांगुली

गांगुली ने धोनी की तारीफ करते हुए कहा कि उन्‍होने देश के लिए बड़ी-बड़ी सफलताएं अर्जित की हैं, लेकिन हमेशा ऐसा करना आसान नहीं होता है। अत: चयनकर्ताओं को धोनी से बात करनी चाहिए कि वह किस फार्मेट में कप्‍तान रहना चाहते हैं, जिससे उन पर कुछ दबाव कम हो जाएगा।

टीम के वर्तमान प्रदर्शन पर सौरव ने कहा कि हम इस समय एक नई टीम बनाने की तरफ बढ़ रहे हैं, हमारे प्रमुख खिलाड़ी राहुल द्रविड़ और वीवीएस लक्ष्‍मण अन्‍तर्राष्‍ट्रीय क्रिकेट से सन्‍यास ले चुके हैं अत: इस जगह को भरने में अभी वक्‍त लगेगा।

147 वनडे और 49 टेस्‍ट मैचों में भारत की कप्‍तानी करने वाले सौरव गांगुली ने कहा कि खराब दौर हर किसी के करियर में आता है, हम बीसीसीआई से ये उम्‍मीद नहीं कर सकते कि वह धोनी को खराब कप्‍तानी के लिए नोटिस भेजे, हम इस बात को ऐसे ही सबके सामने नहीं बोल सकते है। हम बीसीसीआई से ऐसा करने की उम्‍मीद कभी नहीं कर सकते हैं।

English summary
Former India skipper Sourav Ganguly feels MS Dhoni has too many things on his plate and selectors should talk to him about 'split captaincy', as the skipper cannot lead the team in all the formats of the game.
कमेंट लिखें