Englishಕನ್ನಡമലയാളംதமிழ்తెలుగు

रियल फाइटर युवराज सिंह को जन्‍मदिन की हार्दिक शुभकामनायें

Posted by:
     Published: Wednesday, December 12, 2012, 12:39 [IST]
 

बैंगलोर। अभी हाल ही में अर्जुन पुरस्‍कार से सम्‍मानित किये गये क्रिकेटर युवराज सिंह का आज जन्‍मदिन हैं। युवराज का जन्‍म 12 दिसम्‍बर 1980 को चंडीगढ़ में हुआ था। युवराज ने टीम इंडिया की तरफ से अपना पहला एकदिवसीय मैच 3 अक्‍टूबर 2000 को केन्‍या के खिलाफ खेला था लेकिन इसके अगले ही मैच में उन्‍होने आस्‍ट्रेलिया के खिलाफ 82 रनों की शानदार पारी खेलकर अपनी अद्वितीय प्रतिभा का प्रदर्शन किया था। इस मैच में युवराज ने ग्‍लेन मैक्‍ग्रा जैसे गेंदबाज पर पुल और हुक शाट खेले।

भारत को 2007 में टी20 विश्‍वकप जिताने में युवराज की महत्‍वपूर्ण भूमिका रही थी। इसके अलावा 28 वर्षों बाद एकदिवसीय मैचों के विश्‍वकप जीतने में युवराज ने मुख्‍य भूमिका निभाई। वह विश्‍वकप 2011 में 'मैन आफ द टूर्नामेंट' भी रहे। एक बल्‍लेबाज के रूप में उनके दमदार शॉट्स और लेफ्ट आर्म स्पिनर के रूप में उनकी प्रभावशाली गेंदबाजी ने उन्‍हें क्रिकेट जगत में अलग पहचान दिलाई है।

अपने साथी खिला‍डि़यों में युवी के नाम से मशहूर युवराज ने कैंसर जैसी जानलेवा बीमारी से इलाज के बाद क्रिकेट में सफल वापसी करते हुए टी20 और टेस्‍ट टीम में अपनी जगह बनायी। वह आज टीम इंडिया का एक अभिन्‍न अंग है।

अब तक वह 274 एकदिवसीय मैचों में टीम इंडिया का प्रतिनिधित्‍व कर चुके हैं। इसमें उन्‍होने 37.62 के औसत से 8051 रन बनाये हैं, जिसमें उन्‍होने 13 शतक और 49 अर्द्धशतक लगाये हैं। युवराज ने गेंदबाजी में भी बेहतर प्रदर्शन करते हुए 109 विकेट लिये है। टेस्‍ट क्रिकेट के 40 मैचों में उन्‍होने 3 शतक और 14 अर्द्धशतकों की मदद से 1,900 रन बनाये है। क्रिकेट के इस लंबे फार्मेट में युवराज को भले ही ज्‍यादा सफलता न मिली हो लेकिन उनकी प्रतिभा पर किसी को संदेह नहीं है।

अभ्‍यास सत्र के दौरान युवराज सिंह

युवराज मध्‍यक्रम के एक मजबूत बल्‍लेबाज है जो टीम को स्‍थायित्‍व देते हैं।

शानदार बल्‍लेबाज

युवराज ने एकदिवसीय मैचों में अब तक 49 अर्द्धशतक और 13 शतक लगाये हैं।

एक खतरनाक खिलाड़ी

युवराज वनडे और टी20 के खतरनाक खिलाड़ी हैं। जो टीम की जरूरत के मुताबिक अपने खेल को बदल सकते हैं।

विश्‍वकप में लगाये 6 छक्‍के

युवराज सिंह ने टी20 विश्‍वकप 2007 में इंग्‍लैंड के खिलाफ एक ओवर में 6 छक्‍के लगाये थे।

विश्‍वकप में बने 'मैन आफ द टूर्नामेंट'

युवराज सिंह विश्‍वकप 2011 में 'मैन आफ द टूर्नामेंट' बने। उन्‍होने टीम की जीत में महत्‍वपूर्ण भूमिका निभाई थी।

कैंसर से इलाज के बाद की वापसी

युवराज एक जीवट खिलाड़ी हैं जिन्‍होने विश्‍वकप के बाद कैंसर से पीडि़त होने पर इलाज के बाद क्रिकेट में सफल वापसी की।

कप्‍तान की पसंद

अपने विध्‍वंसक खेल और मैच बदलने का माद्दा रखने के कारण वह टीम की रणनीति में खास भूमिका निभाते हैं।

टीम मैन युवराज

युवराज सिंह अपने मजाकिया स्‍वभाव के कारण ड्रेसिंग रूम में खासे लोकप्रिय हैं।

आक्रामक खिलाड़ी

युवराज की आक्रामकता बल्‍लेबाजी के अलावा गेंदबाजी में भी दिखती है।

युवराज एक दोस्‍त के रूप में

युवराज सिंह भारत के महान खिलाड़ी सचिन तेंदुलकर के अच्‍छे दोस्‍त है।

English summary
Today is the birthday of cricketer Yuvraj Singh. He was the 'Man of the tournament' in world cup 2011.
कमेंट लिखें