Englishಕನ್ನಡമലയാളംதமிழ்తెలుగు

27 साल बाद घर में इंग्‍लैंड से हारा भारत

Posted by:
     Published: Monday, December 17, 2012, 16:13 [IST]
 

नागपुर। भारत और इंग्‍लैंड के बीच चार टेस्‍ट मैचों की सीरीज का अंतिम मैच ड्रा पर समाप्‍त हो गया है। इसके साथ ही इंग्‍लैंड ने टीम इं‍डिया को 27 वर्ष बाद भारत में हराया। यह भारत के लिए एक बड़ी हार है। अहमदाबाद में पहला टेस्‍ट मैच जीतने के बाद ऐसा माना जा रहा था कि भारत इंग्‍लैंड को 4-0 से हरा सकता है ल‍ेकिन पहला टेस्‍ट हारने के बाद इंग्‍लैंड टीम ने जबरदस्‍त वापसी की और भारत की संभावनाओं को धूल धुसरित करते हुए इस मैच में जीत हासिल की।

इंग्‍लैंड ने अपनी दूसरी पारी में चार विकेट पर 352 रन बनाये। जिसमें जोनाथन ट्रॉट ने 143 और इयान बेल ने 116 रनों का योगदान दिया। मैच के अंतिम दिन जैसी की उम्‍मीद की जा रही थी लेकिन इसके विपरीत इंग्‍लैंड ने अपनी पारी घोषित नहीं की अत: दोनों अंपायरों ने आपसी स‍हमति से मैच को समाप्‍त घोषित कर दिया।

देखें स्‍कोरकार्ड

27 साल बाद घर में इंग्‍लैंड से हारा भारत

नागपुर टेस्‍ट में इंग्‍लैंड ने टॉस जीतकर पहले बल्‍लेबाजी करते हुए 330 रन बनाये जिसके जवाब में भारत ने 326 रन बनाकर अपनी पारी की घोषणा कर दी। वहीं इंग्‍लैंड ने मैच ड्रॉ घोषि‍त किये जाने तक चार विकेट पर 352 रन बना लिये थे। इंग्‍लैंड की दूसरी पारी में भारत की तरफ से आर आश्विन ने 2 प्रज्ञान ओझा ने 1 और रवींद्र जडेजा ने 1 विकेट लिया।

इंग्‍लैंड के कप्‍तान एलिस्‍टर कुक को मैन आफ द सीरीज और मैच में चार विकेट लेने वाले ब्रिटिश तेज गेंदबाज जेम्‍स एंडरसन को मैन आफ द मैन का पुरस्‍कार‍ दिया गया। इंग्‍लैंड के खिलाफ भारत की यह लगातार दूसरी टेस्‍ट सीरीज में हार है। हार के बाद टीम इंडिया के कप्‍तान महेंद्र सिंह धोनी ने टीम के बल्‍लेबाजों को दोषी ठहराया और कहा कि हमारे बल्‍लेबाज बड़ा स्‍कोर नहीं बना सके जिससे कि हम इस सीरीज में 1-0 की बढ़त लेने के बावजूद पिछड़ते चले गये।

धोनी ने इंग्‍लैंड टीम को जीत की बधाई देते हुए कहा‍ कि उन्‍होने हमें खेल के हर क्षेत्र में मात दी। हम अपनी गलतियों की वजह से हारे। वहीं विशेषज्ञ टीम में बड़े बदलाव किये जाने की मांग कर रहे हैं। 

English summary
England secured a famous Test series victory in India by drawing the fourth and final Test here on Monday. The visitors ended a 27-year wait to taste success on Indian soil.
कमेंट लिखें