Englishಕನ್ನಡമലയാളംதமிழ்తెలుగు

लगातार हो रही आलोचनाओं के कारण सचिन ने लिया सन्‍यास: सुनील गावस्‍कर

Posted by:
     Published: Monday, December 24, 2012, 11:02 [IST]
 

लगातार हो रही आलोचनाओं के कारण सचिन ने लिया सन्‍यास: सुनील गावस्‍कर
 

मुंबई। वनडे से सचिन तेंदुलकर के सन्‍यास की घोषणा करने के बाद, भारत के महान खिलाड़ी सुनील गावस्‍कर ने कहा है कि खराब फार्म के कारण हो रही आलोचनाओं के कारण सचिन ने दबाव में आकर अचानक ये फैसला लिया है। उन्‍होने कहा कि उसने वनडे में 49 शतक लगाये हैं, मैं चाहता था कि वह इसे पचास कर लें मगर दुर्भाग्‍य से ऐसा नहीं हो सका। आइये देखते हैं कुछ पूर्व खिलाडि़यों ने सचिन के सन्‍यास पर क्‍या कहा-

कपिल देव

भारत को विश्‍वकप दिलाने वाले कप्‍तान कपिल देव ने कहा है कि मैं उनके सन्‍यास की घो‍षणा से हैरान हूं कि उन्‍होने अचानक इसका फैसला लिया। उन्‍हें पाकिस्‍तान के खिलाफ सीरीज का कम से कम पहला मैच खेलकर मैदान से रिटायर होना चाहिए था। उन्‍होने इस तरह गुमनाम होकर सन्‍यास लिया। इसे मैं पचा नहीं पा रहा हूं। सचिन ने हमें सम्‍मान करने तक का मौका नहीं दिया। उन्‍होने पाकिस्‍तान के खिलाफ ही अपने करियर का प्रारम्‍भ किया था, इसी टीम के खिलाफ अन्तिम मैच खेलकर सन्‍यास भी लेना चाहिए था।

शोएब अख्‍तर

मैदान में सचिन के कठोर प्रतिद्वंदी शोएब अख्‍तर ने कहा है कि मैं बेहद भाग्‍यशाली हूं जो सचिन के खिलाफ खेला। वह एक महान क्रिकेटर तो हैं ही साथ ही एक अच्‍छे इंसान भी हैं। मैंने उन्‍हें मैदान पर किसी से झगड़ते या अपशब्‍द बोलते नहीं देखा। उन्‍होने अपने प्रदर्शन से करोड़ों लोगों को संतुष्‍ट किया और भारी दबाव का सामना किया। शोएब ने यह भी कहा कि जब आप बेहतर प्रदर्शन नहीं कर रहे होते हैं तो ड्रेसिंग रूम में लोगों का सामना करना बेहद मुश्किल हो जाता है। सचिन के साथ भी ऐसा हुआ है।

सौरव गांगुली

सौरव ने कहा कि उन्‍होने देश को इतना कुछ दिया कि उसका मुकाबला कोई नहीं कर सकता। मैं चाहता था कि सचिन मैदान से सन्‍यास लेते और युवा खिलाड़ी उन्‍हें अपने कंधें पर बिठाकर विदाई देते। मुझे दुख है कि सचिन ने यह पल हम से छीन लिया।

कीर्ति आजाद

पूर्व खिलाड़ी और भाजपा सांसद कीर्ति आजाद ने तल्‍ख शब्‍दों में कहा कि भारत में क्रिकेट मजहब है और सचिन भगवान। भगवान ने सन्‍यास लेकर देश पर बड़ा उपकार किया है।

English summary
Former Indian captain Sunil Gavaskar says criticism creates pressure on Sachin.
कमेंट लिखें