Englishಕನ್ನಡമലയാളംதமிழ்తెలుగు

चयनकर्ताओं ने सहवाग को टीम से बाहर कर सही किया: सुनील गावस्‍कर

Posted by:
     Published: Tuesday, January 8, 2013, 11:03 [IST]
 

चयनकर्ताओं ने सहवाग को टीम से बाहर कर सही किया: सुनील गावस्‍कर
 

नई दिल्‍ली। भारत के पूर्व कप्‍तान और महान खिलाड़ी सुनील गावस्‍कर ने चयनकर्ताओं द्वारा वीरेंद्र सहवाग को टीम से बाहर किये जाने को सही करार दिया है। उनका कहना है कि सहवाग का व्‍यवहार और एटिट्यूड टीम के लिए अच्‍छा नहीं हैं। हालांकि गावस्‍कर ने माना की सहवाग निश्चित रूप से एक मैच विनर खिलाड़ी हैं लेकिन शायद उन्‍हें इस बात का अंदाजा नहीं है कि देश के लिए खेले जाने के क्‍या मायने हैं? गावस्‍कर के अनुसार अपने प्रदर्शन के आधार पर वह टीम में रहने लायक नहीं हैं।

सहवाग लंबे समय से फॉर्म में नहीं हैं और श्रीलंका में हुए टी20 विश्‍वकप में भी उनके कप्‍तान धोनी के साथ अनबन होने की खबरें मीडिया में आ रही थी। गावस्‍कर ने कहा कि चयनकर्ताओं के दिमाग में उनकी फॉर्म के अलावा उनका टीम के प्रति व्‍यवहार भी जरूर ध्‍यान में रहा होगा। सहवाग को इंग्‍लैंड के साथ होने वाली एकदिवसीय सीरीज के पहले तीन मैचों में टीम में शामिल नहीं किया गया है।

गावस्‍कर ने कहा कि एक खिला‍ड़ी के लिए यह समझना बेहद आवश्‍यक होता है कि देश के लिए खेलना एक खास बात है। सहवाग को टीम से बाहर किये जाने पर यह उन्‍हें समझ में आ जाएगा। वीरेंद्र सहवाग ने पाकिस्‍तान के साथ हाल ही में समाप्‍त हुई एकदिवसीय सीरीज के दो मैचों में क्रमश: 0 और 31 रन बनाये हैं। वह अपने नाम के अनुरूप प्रदर्शन करने में नाकाम रहे हैं। इसके अलावा उन पर टीम में गुटबाजी करने के भी आरोप लगे हैं।

वहीं उनके प्रदर्शन पर टीम इंडिया के कप्‍तान महेंद्र सिंह धोनी ने कहा है कि वह धैर्य से बल्‍लेबाजी नहीं करते। हालांकि धोनी ने गौतम गंभीर की भी बीसीसीआई से शिकायत की थी और कहा था कि वह टीम के लिए नहीं बल्कि खुद के लिए खेलते हैं और उनका व्‍यवहार भी बाकी खिलाडि़यों के साथ अच्‍छा नहीं रहता है।

English summary
Former Captain Sunil Gavaskar said that Virender Sehwag's attitude towards team is not satisfying.
कमेंट लिखें