Englishಕನ್ನಡമലയാളംதமிழ்తెలుగు

बचपन से ही कार खरीदने के बारे में सोंचता था : सचिन तेंदुलकर

Posted by:
     Published: Friday, January 11, 2013, 15:38 [IST]
 

बचपन से ही कार खरीदने के बारे में सोंचता था : सचिन तेंदुलकर
 

मुंबई। क्रिकेट के प्रति अपने प्‍यार के अलावा कारों के प्रति अपने शौक के लिए जाने जाने वाले सचिन तेंदुलकर ने बताया कि वह बचपन से ही कार खरीदने के बारे में सोंचते थे। सचिन का कहना है कि मैं बान्‍द्रा में रहता था। हमारी बिल्डिंग के पीछे एक खुला मैदान था जहां पर बहुत सी कारें आती रहती थी, उन कारों को देखकर मैं सोंचता था कि ऐसी कारें एक दिन मेरे पास भी होंगी।

हाल ही में एकदिवसीय क्रिकेट से अपने सन्‍यास की घोषणा करने वाले सचिन ने कहा कि मैंने एक बार पत्‍नी अं‍जलि से कार खरीदने के लिए झूठ भी बोला था। मैंने उसे नहीं बताया कि मैं एक रेसिंग कार खरीद रहा हूं। उन्‍होने कहा कि कारों से साथ वक्‍त गुजारना मुझे इतना पसंद था कि मैं खुद ही उन्‍हें साफ करता था। इन्‍हें साफ करने के लिए मैं शैम्‍पू का इस्‍तेमाल करता था और ऐसा करके मुझे बड़ा अच्‍छा लगता था। मैं अपनी कारों का बड़ा ध्‍यान रखता था। मेरे कई और दोस्‍त भी थे जो कि कारों के शौकीन थे। कभी-कभी मैं खेल से ध्‍यान हटाने के लिए भी कारें साफ करता था।

तेंदुलकर ने यह भी बताया कि वह पत्रिकाओं में पढ़कर मोटर स्‍पोर्टस के बारे में जानकारी रखते थे। एक बार तो एफवन रेस के लिए मैं इतना उत्‍साहित था कि रात भर मुझे नींद ही नहीं आयी। मैंने आटो कार्यक्रम और एफवन रेस देखी है। कार रेस और शानदार कारें मुझे हमेशा से ही आ‍कर्षित करती रही हैं।

इसके अलावा अपने बेटे अर्जुन तेंदुलकर के मुंबई अंडर-14 टीम में चुने जाने पर उन्‍होने खुशी जताई और कहा कि अब कृपया उसके बारे में अधिक बात न करें, उसने इसके लिए काफी कड़ी मेहनत की है इसी का उसे परिणाम मिला है। आप सब उसे अकेला छोड़ दीजिए जिससे कि वह इस खूबसूरत खेल का आनंद ले सके।

English summary
Sachin Tendulkar who is passionate about cricket, has revealed what it takes to divert attention from cricket. Tendulkar, known for his penchant for cars said that he usually washed his cars to take his mind off cricket.
कमेंट लिखें