Englishಕನ್ನಡമലയാളംதமிழ்తెలుగు

मैंने देश के लिए खेलने के बारे में कभी नहीं सोंचा था: धोनी

Posted by:
     Published: Wednesday, January 30, 2013, 11:41 [IST]
 

मैंने देश के लिए खेलने के बारे में कभी नहीं सोंचा था: धोनी
 

बैंगलोर। टीम इंडिया के कप्‍तान महेंद्र सिंह धोनी ने कल एक परिचर्चा में कहा कि मेरे लिए क्रिकेट मेरा पहला प्‍यार रहा है। मैं इस खेल से एक जुड़ाव महसूस करता हूं, मेरी जिंदगी में सब कुछ इस खेल के इर्द गिर्द ही हो रहा है, लेकिन सच पूछिए तो मैंने कभी भी यह नहीं सोंचा था कि एक दिन मैं देश के लिए खेलूंगा। मेरा पूरा ध्‍यान हमेशा से ही अगले मैच पर और अपना सौ फीसदी देने पर ही रहता था।

इसके अलावा धोनी ने बताया कि उन्‍हें खाने का बेहद शौक है जिससे कि वह कभी समझौता नहीं करते हैं। मैं अब जिम में भी ज्‍यादा वक्‍त नहीं बिताता और आराम करता हूं। मुझे इस बात की चिंता कभी नहीं रही है कि मैं अगली सीरीज में चुना जाऊंगा या नहीं।

इस परिचर्चा में धोनी के अलावा अनिल कुंबले, वीरेंद्र सहवाग और पूर्व कोच जान राइट मौजूद थे। एकदिवसीय टीम में वापसी के लिए संघर्ष कर रहे सहवाग ने बताया कि मैं तकनीकी रूप से भले ही मजबूत न हूं लेकिन मानसिक रूप से बेहद मजबूत हूं। मैं एक सकारात्‍मक सोंच के साथ आगे बढ़ रहा हूं और मुझे उम्‍मीद है कि मैं जल्‍द ही टीम में वापसी करूंगा। सहवाग ने टीम इंडिया में शामिल होने के अपने पहले के जीवन के बारे में बताया कि मैं नजफगढ़ में अभ्‍यास करता था, यह इलाका बदमाशों का क्षेत्र था। मैं हर रोज बस से 84 किलोमीटर का सफर करता था। जिंदगी में आने वाली मुश्किलों ने मुझे मजबूत बनाया है।

वीरेंद्र सहवाग को ईरानी ट्राफी के लिए 'शेष भारत' टीम का कप्‍तान बनाया गया है। ईरानी ट्राफी में रणजी चैम्पियन टीम और शेष भारत टीम के बीच मुकाबला खेला जाता है। महेंद्र सिंह धोनी के खेलने से मना करने के कारण सहवाग को शेष भारत टीम का कप्‍तान बनाया गया है। शेष भारत मे हरभजन सिंह और श्रीसंत भी होंगे। ईरॉनी ट्राफी का मुकाबला 6 से 10 फरवरी के बीच खेला जाएगा।

English summary
Team India's captain MS Dhoni reveals the secret of his previous life in a discussion.
कमेंट लिखें