Englishಕನ್ನಡമലയാളംதமிழ்తెలుగు

मेरे कहने पर सहवाग को वनडे में लिया गया था: लेले

Posted by:
     Updated: Wednesday, March 13, 2013, 11:38 [IST]
 

मुंबई। बीसीसीआई के पूर्व सचिव जयंत लेले ने टीम इंडिया से बाहर किये गये वीरेंद्र सहवाग का समर्थन करते हुए कहा है कि सहवाग के पूर्व प्रदर्शन को देखते हुए उन्‍हें टीम में शामिल किया जाना चाहिए। वह भारत के इकलौते बल्‍लेबाज हैं जिन्‍होने टेस्‍ट क्रिकेट में दो तिहरे शतक लगाये हैं। मैच जिताने की उनकी क्षमताओं के कारण, जब तक वह फिट और उपलब्‍ध हैं उन्‍हें टीम का हिस्‍सा बने रहना चाहिए।

लेले ने सहवाग के शुरूआती दिनों की याद करते हुए कहा है कि चंदू बोर्डे की अध्‍यक्षता वाली चयन समिति में मदन लाल अक्‍सर सहवाग को टीम इंडिया में शामिल करने की बात करते थे। उस समय सहवाग घरेलू क्रिकेट में सातवें और आठवें नंबर पर बल्‍लेबाजी करते हुए 40-50 रन हर रोज बनाते थे। लेले ने खुद को सहवाग को टीम में लाने वाला बताते हुए कहा कि सहवाग को 15 सदस्‍यीय टीम में शामिल करने से पहले काफी ज्‍यादा बात की गई थी, जिसके बाद सहवाग को सौरव गांगुली की जगह जिम्‍बाब्‍वे के खिलाफ (दिसम्‍बर 2000) टीम में शामिल किया गया। उस मैच में कम ओवररेट के कारण सौरव गांगुली नहीं खेल सके थे।

इसके लिए मैंने बोर्डे को सहवाग को टीम में शामिल करने के लिए मनाया था। लेले ने बताया‍ कि मुझे खुशी है कि वह आज भी खेल रहा है। लेले ने कहा है कि गैरी सोबर्स ने सहवाग की तारीफ करते हुए कहा था कि वह एक मैच विजेता खिलाड़ी है और मैं उसके खेलने के अंदाज को काफी पसंद करता हूं। लेले ने कहा कि टेस्‍ट सीरीज के पहले मैं संदीप पाटिल से मिला और उनसे सहवाग की मैच विजेता क्षमताओं के बारे में बात की, इन बातों से पाटिल सहमत थे, मुझे उम्‍मीद है कि वह जल्‍द ही टीम में वापसी करेंगे।

जयंत लेले बीसीसीआई के पूर्व सचिव रह चुके हैं। 

Story first published:  Wednesday, March 13, 2013, 11:35 [IST]
English summary
Former BCCI secretary Jaywant Lele wants discarded Indian opener Virender Sehwag to be recalled and made an integral part of the Indian team in all three formats of the game for his match-winning abilities.
कमेंट लिखें