Englishಕನ್ನಡമലയാളംதமிழ்తెలుగు

श्रीनिवासन ने बचायी थी एमएस धोनी की कप्‍तानी!

Posted by:
     Updated: Tuesday, March 26, 2013, 15:54 [IST]
 

नई दिल्ली। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड के अध्यक्ष एन. श्रीनिवास ने महेंद्र धोनी की कप्तानी बचाने में अपनी भूमिका के संकेत दिए हैं। श्रीनिवासन का कहना है कि बोर्ड का संविधान उन्हें चयनकर्ताओं के निर्णयों को स्वीकृति देने का अधिकार देता है, जिसमें कप्तान के चयन का निर्णय भी शामिल है। आस्ट्रेलिया दौरे और इंग्लैंड के खिलाफ खराब प्रदर्शन करने के बाद धोनी को कप्तानी से हटाने के बारे में आई मीडिया रिपोर्टों के बारे में श्रीनिवासन से पूछे जाने पर उन्होंने कहा, "टीम चयन मामलों पर चर्चा करना उचित नहीं है। भारतीय बीसीसीआई का संविधान अध्यक्ष को राष्ट्रीय टीम के चयन को स्वीकृति देने का अधिकार देता है।"

जब उनसे दोबारा पूछा गया तो वो बोले, "अध्यक्ष का निर्णय अंतिम होता है?" तो उन्होंने कहा, "यह बीसीसीआई का संविधान कहता है।" क्रिकेट के छोटे प्रारूपों को लेकर धोनी को हटाए जाने के बारे में उनसे पूछा गया तो उन्होंने कहा कि इस बारे में चयनकर्ताओं को निर्णय लेना है। वहीं राहुल द्रविड़ सहित कई क्रिकेट विशेषज्ञ ने धोनी को छोटे प्रारूपों से कप्तानी के पद से हटाने का समर्थन किया था।

श्रीनिवासन ने कहा, "चयनकर्ता इस बारे में निर्णय लेने के लिए हैं। हमारे पास अनुभवी चयनकर्ताओं की टीम है। इसलिए उनको यह तय करना है। लेकिन मैं निजी तौर पर यह मानता हूं कि धोनी ने तीनों प्रारूपों में बढ़िया प्रदर्शन किया है।"

पूर्व चयनकर्ता मोहिंदर अमरनाथ ने यह दावा किया था कि के. श्रीकांत के नेतृत्व वाली गत चयनकर्ता समिति ने सर्वसम्मति से आस्ट्रेलिया दौरे और इंग्लैंड के खिलाफ खराब प्रदर्शन करने के बाद धोनी को कप्तानी से हटाने की मंजूरी दी थी। परंतु कथित तौर पर श्रीनिवासन ने इस निर्णय को नामंजूर कर दिया था। श्रीनिवासन ने कहा कि धोनी एक अनुभवी कप्तान हैं। गौरतलब है कि धोनी श्रीनिवासन की स्वामित्व वाली आईपीएल टीम चेन्नई सुपरकिंग्स के कप्तान भी हैं।

इंडो-एशियन न्यूज सर्विस।

Story first published:  Tuesday, March 26, 2013, 15:51 [IST]
English summary
BCCI president N Srinivasan hinted that the board's constitution gives him the power to approve any decision of the national selectors, including that on the captain.
कमेंट लिखें