Englishಕನ್ನಡമലയാളംதமிழ்తెలుగు

मुंबई ने राजस्‍थान को हरा फाइनल में जगह बनाई

Posted by:
     Updated: Monday, May 27, 2013, 10:09 [IST]
 

कोलकाता। मुम्बई इंडियंस टीम ने शुक्रवार को ईडन गार्डन्स स्टेडियम में खेले गए आईपीएल के दूसरे क्वालीफायर मुकाबले में राजस्थान रॉयल्स को चार विकेट से हरा दिया। इस तरह मुम्बई ने दूसरी बार फाइनल में जगह बनाई है जबकि राजस्थान का दूसरी बार खिताबी मुकाबले में खेलने का सपना टूट गया।

मुम्बई की टीम 26 मई को इसी मैदान पर दो बार की चैम्पियन चेन्नई सुपर किंग्स से भिड़ेगी। सुपर किंग्स लगातार चौथी और कुल पांचवीं बार फाइनल में पहुंचे हैं। 2010 में सुपर किंग्स ने मुम्बई को फाइनल में हराया था और इसके अलावा 21 मई को दिल्ली में खेले गए पहले क्वालीफायर में भी पराजित किया था। अब मुम्बई के पास इन दोनों मौकों का हिसाब चुकाने का मौका है। राजस्थान द्वारा दिए गए 166 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी मुम्बई की टीम ने अपने सलामी बल्लेबाज ड्वेन स्मिथ (62) की शानदार पारी की बदौलत 19.5 ओवरों में छह विकेट खोकर जीत हासिल कर ली। स्मिथ के अलावा आदित्य तारे ने 35 और दिनेश कार्तिक ने 22 रनों का योगदान दिया। तारे ने 27 गेंदों पर तीन चौके और दो छक्के लगाए जबकि कार्तिक ने 17 गेंदों पर तीन चौके लगाए।

देखें स्‍कोरकार्ड

स्मिथ और तारे (35) ने पहले विकेट के लिए 55 गेंदों पर 70 रन जोड़े। तारे, केवन कूपर की गेंद पर संजू सैमसन द्वारा सीमा रेखा पर लपके गए। इसके बाद कार्तिक और स्मिथ ने दूसरे विकेट के लिए 30 गेंदों पर 55 रन जोड़े। इसी दौरान स्मिथ ने आईपीएल के इस संस्करण में अपना चौथा और लगातार दूसरा अर्धशतक पूरा किया। कार्तिक का विकेट 125 रनों के कुल योग पर गिरा। इसके बाद सिद्धार्थ त्रिवेदी ने अपने अंतिम ओवर में कप्तान रोहित शर्मा (2) को सस्ते में आउट करके अपनी टीम को तीसरी सफलता दिलाई। रोहित ने आठ गेंदों का सामना किया।

स्मिथ एक शानदार पारी खेलने के बाद स्टुअर्ट बिन्नी की गेंद को फ्लिक करके छक्का उड़ाने के प्रयास में सीमा रेखा पर सैमसन के हाथों लपके गए। यह विकेट 132 रनों के कुल योग पर गिरा। मुम्बई को स्मिथ के रूप में बड़ा झटका लगा। स्मिथ ने 44 गेंदों पर छह चौके और दो छक्के लगाए। कीरन पोलार्ड (11) अहम मुकाम पर दबाव नहीं झेल सके। वैसे दबाव इतना बड़ा भी नहीं था। मुम्बई को 16 गेंदों पर जीत के लिए 24 रन बनाने थे लेकिन पोलार्ड ने जेम्स फॉल्कनर के अंतिम ओवर की तीसरी गेंद को पढ़ने में गलती की और सीमा रेखा पर कूपर को कैच थमा बैठे। अब मुम्बई के लिए मुश्किलें बढ़ गई थीं।

अंतिम 12 गेंदों पर मुम्बई को जीत के लिए 23 रनों की जरूरत थी। विकेट पर अंबाती रायडू (17) और हरभजन सिंह (नाबाद 8) थे। रायडू ने कूपर द्वारा फेंके गए 19वे ओवर में 15 रन लेकर अपनी टीम का काम आसान कर दिया। इस ओवर में एक छक्का और एक चौका लगा।

इस तरह अंतिम ओवर में मुम्बई को जीत के लिए आठ रन बनाने की चुनौती मिली। शेन वॉटसन द्वारा फेंके गए इस ओवर की पहली गेंद पर दो रन बने लेकिन दूसरी गेंद पर रायडू बोल्ड हो गए। रायडू ने 11 गेंदों पर एक चौका और एक छक्का लगाया। तीसरी गेंद पर रिषी धवन ने बड़ी चालाकी से चौका लगाया और फिर चौथी गेंद पर लेग बाई के रूप में एक रन चुराया।

स्कोर बराबर हो चुका था। स्ट्राइकर पर हरभजन थे और जीत के लिए दो गेंदों पर एक रन चाहिए था। सारे क्षेत्ररक्षक करीब आ चुके थे। हरभजन ने इसकी परवाह न करते हुए चौका लगाकर अपनी टीम को फाइनल में पहुंचा दिया। इससे पहले, टॉस जीतने के बाद पहले बल्लेबाजी करते हुए राजस्थान रॉयल्स ने कप्तान राहुल द्रविड़ (43) और दिशांत याज्ञनिक (नाबाद 31) की उम्दा पारियों की मदद से निर्धारित 20 ओवरों में 6 विकेट पर 165 रन बनाए। द्रविड़ ने 37 गेंदों की पारी में 7 चौके लगाए।

मुंबई इंडियंस के स्पिन गेंदबाज हरभजन सिंह (23/3) और कीरन पोलार्ड (6/2) की धारदार गेंदबाजी के बावजूद राजस्थान रॉयल्स ने सम्मानजनक स्कोर हासिल किया। याज्ञनिक ने 17 गेंदों पर 5 चौकों की मदद टीम को 150 के पार पहुंचाया। इसके अलावा अजिंक्य रहाणे (21) और स्टुअर्ट बिन्नी (27) की भी अहम भूमिका रही। राजस्थान को दूसरे क्वालीफायर में पहुंचाने वाले ब्रैड हॉज ने भी नाबाद 19 रनों का योगदान दिया। बिन्नी ने 17 गेंदों पर तीन चौके और एक छक्का लगाया जबकि हॉज ने 20 गेंदों पर दो चौके लगाए।

राजस्थान ने शुरुआत तो अच्छी की थी। द्रविड़ और रहाणे पहले विकेट के लिए 44 रन जोड़े लेकिन इसके बाद 60 के कुल योग पर शेन वॉटसन (6), 64 के योग पर संजू सैमसन (0) और फिर 87 के योग पर द्रविड़ का विकेट गिरने के कारण 2008 की चैम्पियन यह टीम दबाव में आती दिखी। बिन्नी, हॉज और याज्ञनिक ने हालांकि इसके बाद अहम साझेदारियां करते हुए अपनी टीम को मुश्किल से निकालने का काम किया। हॉज और याज्ञनिक ने 27 गेंदों पर नाबाद 57 रन जोड़े। यह राजस्थान के लिए सबसे बड़ी साझेदारी साबित हुई।

Story first published:  Saturday, May 25, 2013, 15:53 [IST]
English summary
Mumbai Indians overcame middle over hiccups to carve out a thrilling four-wicket win over Rajasthan Royals off the penultimate ball to move into the Indian Premier League final here early Saturday.
कमेंट लिखें