Englishಕನ್ನಡമലയാളംதமிழ்తెలుగు

चैम्पियंस ट्राफी: धवन के शतक से जीता भारत की जीत से शुरूआत

     Updated: Friday, June 7, 2013, 11:37 [IST]
 

कार्डिफ। शिखर धवन (114) की शानदार शतकीय पारी और गेंदबाजों तथा क्षेत्ररक्षकों के उम्दा प्रदर्शन की बदौलत टीम इंडिया ने गुरुवार को सोफिया गार्डन्स मैदान पर खेले गए अपने पहले मुकाबले में दक्षिण अफ्रीका को 26 रनों से हराकर आईसीसी चैम्पियंस ट्रॉफी में अपने अभियान का जोरदार आगाज किया। भारत द्वारा दिए गए 332 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी दक्षिण अफ्रीकी टीम रोबिन पीटरसन (68), कप्तान अब्राहम डिविलियर्स (70) और रेयान मैक्लॉरेन (नाबाद 71) की अर्धशतकीय पारियों के बावजूद 50 ओवरों में सभी विकेट गंवाकर 305 रन ही बना सकी।

कई मौकों पर दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाज हावी होते दिखे लेकिन बल्लेबाजों के बाद गेंदबाजों और क्षेत्ररक्षकों ने समझदारी भरा प्रदर्शन करते हुए स्कोर को बचा लिया। भारतीय खिलाड़ियों ने दो रन आउट किए। उमेश यादव, इशांत शर्मा, रवींद्र जडेजा और भुवनेश्वर कुमार ने दो-दो विकेट लिए। धवन को मैन ऑफ द मैच चुना गया। भारत ने 31 रन के कुल योग पर ही दक्षिण अफ्रीका के सलामी बल्लेबाजों हाशिम अमला (22) और कोलिन इंग्राम (6) के विकेट चटक लिए थे लेकिन इसके बाद पीटरसन और डिविलियर्स ने तीसरे विकेट के लिए 124 गेंदों पर इतने ही रन जोड़कर भारत की मुश्किल बढ़ा दी थी।

चैम्पियंस ट्राफी: धवन के शतक से जीता भारत की जीत से शुरूआत

पीटरसन 155 रन के कुल योग पर रन आउट हुए तो भारत को कुछ राहत मिली। 72 गेंदों पर छह चौके लगाने वाले पीटरसन को कप्तान महेंद्र सिंह धौनी ने जडेजा के थ्रो पर रन आउट किया। इसके बाद डिविलियर्स का साथ निभाने ज्यां पाल ड्यूमिनी (14) विकेट पर आए लेकिन जडेजा ने सात महीने बाद अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट में उनकी वापसी को सफल नहीं होने दिया। ड्यूमिनी 182 रनों के कुल योग पर आउट हुए। कुल योग में दो रन ही जुड़े थे कि उमेश ने डिविलियर्स को भी चलता कर दिया। डिविलियर्स 71 गेंदों पर सात चौके लगाने के बाद जडेजा के हाथों लपके गए।

इंडियन प्रीमियर लीग में किंग्स इलेवन पंजाब की ओर से अपनी प्रतिभा की खनक दिखा चुके डेविड मिलर (0) की क्षेत्ररक्षकों ने एक न चलने दी और 188 रन के कुल योग पर रन आउट करके उन्हें पवेलियन लौटा दिया। फॉफ दू प्लेसिस (30) और मैक्लॉरेन ने सातवें विकेट के लिए 28 गेंदों पर 50 रन जोड़कर एक बार फिर भारत की मुश्किल बढ़ाई लेकिन 238 रनों के कुल योग पर इशांत ने प्लेसिस को सुरेश रैना के हाथों कैच कराकर एक बार फिर अपनी टीम को संकटों से उबारा। प्लेसिस ने 23 गेंदों पर पांच चौके लगाए। इशांत ने 251 के कुल योग पर रोरी क्लीनवेल्ट (4) को आउट कर भारत को आठवीं सफलता दिलाई। इसके बाद 257 के कुल योग पर जडेजा ने लोनवाले सोत्सोबे (3) को बोल्ड करके दक्षिण अफ्रीका का नौवां विकेट झटका।

भारत जीत की दहलीज पर खड़ा था लेकिन मैक्लॉरेन के साथ-साथ मोर्ने मोर्कल (8) उसका रास्ता रोके खड़े थे। दोनों ने अंतिम विकेट के लिए 43 गेंदों पर 48 रन जोड़े लेकिन उनका प्रयास टीम को जीत दिलाने के लिए नाकाफी साबित हुआ। मोर्कल पारी की अंतिम गेंद पर आउट हुए। मैक्लॉरेन ने अपनी 61 गेंदों की नाबाद पारी में 11 चौके और एक छक्का लगाया। इससे पहले, धवन, रोहित शर्मा (65) और जडेजा (नाबाद 47) की शानदार पारियों की बदौलत भारत ने 50 ओवरों में सात विकेट के नुकसान पर 331 रन बनाए।

धवन के साथ पारी की शुरुआत करने उतरे रोहित ने अपनी 81 गेंदों की पारी में आठ चौके और एक छक्का लगाया। रोहित का विकेट 127 रनों के कुल योग पर गिरा। उन्हें रेयान मैक्लॉरेन ने पीटरसन के हाथों कैच कराया। धवन ने दूसरे विकेट के लिए भी विराट कोहली (31) के साथ बेहतरीन साझेदारी की और 83 रन जोड़े। कोहली, लोनवाबो सोत्सोबे द्वारा फेंकी गई 35वें ओवर की दूसरी गेंद पर हाशिम अमला को कैच थमाकर पवेलियन लौटे। कोहली के जाने के बाद धवन भी ज्यादा देर नहीं टिक सके और भारत के कुल योग में 17 रन जोड़कर स्थानापन्न ए.एम. फैंगीसो द्वारा लपक लिए गए। धवन ने 94 गेंदों की पारी में 12 चौके और एक छक्का लगाया।

धवन जब 38वें ओवर की तीसरी गेंद पर आउट हुए उस समय भारत का स्कोर तीन विकेट पर 227 रन था। इसके बाद दिनेश कार्तिक (14), धौनी (27) और रैना (9) का अंशदान कुछ खास नहीं रहा, लेकिन जडेजा द्वारा आखिरी ओवरों में 29 गेंदों पर तेजी से बनाए गए 47 रनों की बदौलत भारत 331 के विशाल स्कोर तक पहुंचने में कामयाब रहा।

जडेजा ने अपनी पारी में सात चौके और एक छक्का लगाया। दक्षिण अफ्रीका की तरफ से मैक्लारेन ने तीन विकेट चटकाए तथा सोत्सोबे को दो विकेट हासिल हुए।

Story first published:  Friday, June 7, 2013, 11:32 [IST]
English summary
Shikhar Dhawan starred for the Men in Blue with a fine century. His first ODI hundred catapulted the team to 331/7 and in the second half of the game, spinners took charge to derail the opposition's chase.
कमेंट लिखें