Englishಕನ್ನಡമലയാളംதமிழ்తెలుగు

त्रिकोणीय श्रृंखला : श्रीलंका ने भारत को 161 रनों से हराया

Posted by:
     Updated: Wednesday, July 3, 2013, 17:35 [IST]
 

किंग्स्टन। श्रीलंका क्रिकेट टीम ने उपुल थरंगा (नाबाद 174) और पूर्व कप्तान माहेला जयवर्धने (107) की शानदार शतकीय पारियों और फिर रंगना हेराथ के नेतृत्व में अपने गेंदबाजों के उम्दा प्रदर्शन की बदौलत सबीना पार्क मैदान पर मंगलवार को खेले गए सेल्कॉन मोबाइल कप त्रिकोणीय श्रृंखला के तीसरे मैच में टीम इंडिया को 161 रनों से हरा दिया। थरंगा, जयवर्धने और कप्तान एंजेलो मैथ्यूज के नाबाद 44 रनों की बदौलत श्रीलंका ने भारत के सामने 349 रनों का चुनौतीपूर्ण लक्ष्य रखा लेकिन भारतीय टीम 44.5 ओवरों में सभी विकेट गंवाकर 187 रन ही बना सकी। रवींद्र जडेजा ने सर्वाधिक नाबाद 49 रन बनाए जबकि मुरली विजय के बल्ले से 30 और सुरेश रैना के बल्ले से 33 रन निकले। श्रीलंका की ओर से हेराथ ने 37 रन देकर तीन विकेट लिए जबकि सचित्रा सेनानायके और लसिथ मलिंगा ने दो-दो विकेट लिए। थरंगा को मैन आफ द मैच चुना गया।

भारत की शुरुआत खराब रही। उसने 65 रनों के कुल योग पर रोहित शर्मा (5), शिखर धवन (24), कप्तान विराट कोहली (2) और विजय के विकेट गंवा दिए थे। इस बीच में शिखर और विजय ने दूसरे विकेट के लिए 40 रन जोड़े। इसके बाद रैना और दिनेश कार्तिक (22) स्कोर को 118 रनों तक लेकर गए। इन दोनों के बीच पांचवें विकेट के लिए 53 रनों की साझेदारी हुई, जो भारत के लिए सबसे बड़ी साझेदारी रही।

देखें स्‍कोरकार्ड

त्रिकोणीय श्रृंखला : श्रीलंका ने भारत को 161 रनों से हराया

कार्तिक का विकेट 118 रनों के कुल योग पर गिरा और फिर रैना 142 के कुल योग पर पवेलियन लौटे गए। इसके बाद भारतीय बल्लेबाजों का आना तथा जाना लगा रहा और बड़े स्कोर के आगे बेबस भारतीय टीम 187 रनों पर ऑलआउट हो गई। जडेजा ने अपनी नाबाद पारी में 62 गेंदों का सामना करते हुए चार चौके और एक छक्का लगाया। यह भारत की लगातार दूसरी हार है। पहले मैच में वेस्टइंडीज ने उसे एक विकेट से हराया था। श्रीलंका की यह दो मैचों में पहली जीत है। उसे भी वेस्टइंडीज ने पटखनी दी थी।

इससे पहले, थरंगा और जयवर्धने ने भारत के कार्यकारी कप्तान विराट कोहली के टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने के फैसले को गलत साबित करते हुए चैम्पियंस ट्रॉफी जीतने वाली भारतीय टीम आक्रमण पंक्ति को दोयम साबित किया और पहले विकेट के लिए 38.4 ओवरों में 213 रनों की साझेदारी की। इन दोनों के अलावा मैथ्यूज (नाबाद 44) की उम्दा पारी की बदौलत श्रीलंका निर्धारित 50 ओवरों में एक विकेट पर 348 रन बनाने में सफल रहा। जयवर्धने 112 गेंदों पर नौ चौके और दो छक्के लगाकर रविचंद्रन अश्विन की गेंद पर उमेश यादव के हाथों कैच हुए।

अपने करियर का 16वां शतक पूरा करने के लिए जयवर्धने ने 107 गेंदों का सामना किया और नौ चौके तथा एक छक्का लगाया। जयवर्धने के आउट होने के बाद थरंगा ने 124 गेंदों की मदद से अपने करियर का 13वां शतक पूरा किया और फिर अपने करियर के उच्च व्यक्तिग योग को छुआ। थरंगा की 159 गेंदों की शानदार पारी में 19 चौके और तीन छक्के शामिल हैं। इससे पहले थरंगा का सर्वोच्च व्यक्तिगत योग 133 रन था। अपनी इस पारी के दौरान थरंगा ने एकदिवसीय मैचों में 5000 रनों का आंकड़ा भी पार किया। थंरगा और मैथ्यूज के बीच 135 रनों की साझेदारी हुई। इन दोनों ने 68 गेंदों का सामना किया। मैथ्यूज ने अपनी 29 गेंदों की पारी में चार चौके और एक छक्का लगाया।

थरंगा और जयवर्धने ने श्रीलंका की ओर से पहले विकेट के लिए छठी सबसे बड़ी साझेदारी को अंजाम दिया। साथ ही यह रनों के लिहाज से श्रीलंका के लिए आठवीं सबसे बड़ी साझेदारी है। मजेदार बात यह है कि आठ में से पांच मौकों पर थरंगा ने अलग-अलग बल्लेबाजों के साथ इन साझेदारियों को अंजाम दिया है। जयवर्धने के साथ थरंगा की 200 या उससे अधिक रनों की यह तीसरी साझेदारी है। थरंगा ने श्रीलंका के लिए एकदिवसीय मैचों में दूसरी सबसे बड़ी पारी खेली। इससे सबसे बड़ी पारी का रिकार्ड सनथ जयसूर्या (189) के नाम है।

Story first published:  Wednesday, July 3, 2013, 10:10 [IST]
English summary
Second loss in a row for Team India. Sri Lanka defeated India by a huge margin of 161 runs.
कमेंट लिखें