Englishಕನ್ನಡമലയാളംதமிழ்తెలుగు

चैम्पियंस लीग : मुम्बई इंडियंस दूसरी बार बने चैम्पियन

     Published: Monday, October 7, 2013, 9:37 [IST]
 

नई दिल्ली | अपने बल्लेबाजों और फिर हरभजन सिंह (32/4) के नेतृत्व में अपने गेंदबाजों के शानदार प्रदर्शन की बदौलत मुम्बई इंडियंस टीम ने फिरोजशाह कोटला मैदान पर रविवार को खेले गए चैम्पियंस लीग के पांचवें संस्करण के फाइनल मुकाबले में राजस्थान रॉयल्स को 33 रनों से हरा दिया। मुम्बई इंडियंस ने 2011 के बाद दूसरी बार यह खिताब जीता है। एक समय लग रहा था कि रॉयल्स यह मुकाबला बड़ी आसानी से जीत लेंगे लेकिन संजू सैमसन (60) और अजिंक्य रहाणे (65) का विकेट गिरने के बाद मुम्बई ने जोरदार वापसी की और 203 रनों के लक्ष्य का पीछा कर रही राजस्थान रॉयल्स को 18.5 ओवरों में 169 रनों पर सीमित कर दिया। हरभजन के अलावा केरोन पोलार्ड ने तीन विकेट लिए।

रॉयल्स की शुरुआत अच्छी नहीं रही। रहाणे के साथ पारी की शुरुआत करने आए कुशल परेरा (8) ने आते ही दो चौके लगाए लेकिन वह पारी की चौथी ही गेंद पर रन आउट कर दिए गए। रॉयल्स के लिए यह बड़ा झटका था। रहाणे इससे स्तब्ध थे।अब रहाणे का साथ देने सैमसन आए। इन दोनों ने इसके बाद कोटला में चौकों और छक्कों की जो बरसात शुरू की, उससे दर्शकों ने दिल खोलकर अपना मनोरंजन किया और साथ ही रॉयल्स बेहद मजबूत स्थिति में दिखाई देने लगे। सैमसन ने 23 गेंदों पर अपना अर्धशतक पूरा किया और रहाणे के साथ स्कोर को 100 के पार पहुंचाया। इस मुकाम पर लग रहा ता कि रॉयल्स यह मैच कुछ गेंदें शेष रहते ही जीत लेंगे लेकिन 117 के कुल योग पर वह प्रज्ञान ओझा की गेंद पर हरभजन द्वारा लपके गए। सैमसन ने रहाणे के साथ 109 रन जोड़े। उनकी 33 गेंदों की पारी में चार चौके और चार छक्के शामिल हैं।

चैम्पियंस लीग : मुम्बई इंडियंस दूसरी बार बने चैम्पियन

सैमसन के आउट होने के बाद रहाणे ने एक छोर पर आक्रामक रूख जारी रखा और 37 गेंदों पर अपना अर्धशतक पूरा किया। यह चैम्पियंस लीग में उनका चौथा लगातार अर्धशतक है। वह इस लीग में लगातार चार अर्धशतक लगाने वाले पहले बल्लेबाज हैं। रहाणे के साथ बल्लेबाजी कर रहे शेन वॉटसन (8) ने केरोन पोलार्ड के ओवर में छक्का लगाकर अच्छा आगाज किया लेकिन वह हरभजन की गेंद पर पोलार्ड द्वारा लपके गए। यह विकेट 137 के कुल योग पर गिरा।

इसके बाद 155 के कुल योग पर रहाणे भी अपना संयम खो बैठे और हरभजन की गेंद पर ड्वेन स्मिथ द्वारा लपके गए। रहाणे ने 47 गेंदों पर पांच चौके और दो छक्के लगाए। इसी योग पर हरभजन ने स्टुअर्ट बिन्नी (10) को भी चलता किया। लगातार विकेट गिरने से अब दबाव रॉयल्स पर आ चुका था। इसी का नतीजा था कि केवोन कूपर (4) का विकेट 159, कप्तान राहुल द्रविड़ (1) का विकेट 163 और दिशांत याज्ञनिक (6) का विकेट 169 के कुल योग पर गिर गया। जेम्स फॉल्कनर (नाबाद 2) विकेट पर बने रहे लेकिन 169 के कुल योग पर राहुल शुक्ला (0) भी चलते बने। इसी योग पर प्रवीण ताम्बे (0) को भी पोलार्ड ने चलता किया। पोलार्ड ने इस ओवर में तीन विकेट लिए।

मुम्बई की चमकदार बल्लेबाजी, बनाए 202 रन :

इससे पहले, टॉस हारकर बल्लेबाजी करने उतरी मुम्बई की टीम ने निर्धारित 20 ओवरों में छह विकेट पर 202 रन बनाए। इसमें ड्वेन स्मिथ के 44, कप्तान रोहित शर्मा के 33, अंबाती रायडू के 29 और ग्लेन मैक्सवेल के तेज 37 रन शामिल हैं। राजस्थान रॉयल्स की ओर प्रवीण ताम्बे ने दो विकेट लिए। सचिन तेंदुलकर (15) अपनी अंतिम ट्वेंटी-20 पारी में सिर्फ 15 रन बना सके लेकिन उन्होंने 39 गेंदों पर पांच चौके और एक छक्का लगाने वाले स्मिथ के साथ पहले विकेट के लिए 27 गेंदों पर 35 रन जोड़े। मुम्बई ने एक लिहाज से अच्छी शुरुआत की लेकिन सचिन को बड़ी पारी खेलते देखने की हसरत लेकर मैदान में पहुंचे दर्शकों को निराशा हाथ लगी। सचिन ने 13 गेंदों पर तीन चौके लगाए और शेन वॉटसन की गेंद पर बोल्ड हुए।

इसके बाद स्मिथ और रायडू ने दूसरे विकेट के लिए 42 गेंदों पर 42 रन जोड़े। स्मिथ का विकेट 77 के कुल योग पर गिरा। स्मिथ के आउट होने के बाद रायडू और कप्तान ने तीसरे विकेट के लिए 27 रन जोड़े। रायडू 24 गेंदों पर चार चौके लगाने के बाद 104 रनों के कुल योग पर आउट हुए। रोहित की पारी जारी रही। उन्होंेने पोलार्ड के साथ चौथे विकेट के लिए 16 गेंदों पर 36 रन जोड़े। पोलार्ड का विकेट 140 और रोहित का विकेट 152 के कुल योग पर गिरा। रोहित की 14 गेंदों की तूफानी पारी में तीन चौके और दो छक्के शामिल हैं।

पोलार्ड ने 10 गेंदों पर एक चौका और एक छक्का लगाया। पोलार्ड का विकेट गिरने के बाद मैक्सवेल विकेट पर आए और दिनेश कार्तिक (नाबाद 15) के साथ तूफानी अंदाज में खेलने लगे। इन दोनों ने एक के बाद एक कई अच्छे शॉट्स लगाए और छठे विकेट के लिए 14 गेंदों पर 41 रन जोड़ते हुए अपनी टीम को 193 रनों तक ले गए। कार्तिक ने अपनी पांच गेंदों की नाबाद पारी में दो छक्के लगाए। हरभजन दो गेंदों पर एक छक्के की मदद से सात रन बनाकर नाबाद रहे।

English summary
Glenn Maxwell and Harbhajan Singh starred as Mumbai Indians won the Champions League 2013. They defeated Rajasthan Royals in the final by 33 runs.
कमेंट लिखें