Englishಕನ್ನಡമലയാളംதமிழ்తెలుగు

पुणे एकदिवसीय : आस्ट्रेलिया ने भारत को 72 रनों से हराया

     Updated: Monday, October 14, 2013, 10:06 [IST]
 

पुणे| आस्ट्रेलिया के खिलाफ सात एकदिवसीय अंतर्राष्ट्रीय मैचों की सीरीज के पहले मैच में भारत रविवार को 72 रनों के अंतर से पराजित हो गया। आस्ट्रेलिया से मिले 305 रनों के लक्ष्य का पीछा करने उतरी पूरी टीम इंडिया 49.4 ओवरों में 232 के स्कोर पर धराशायी हो गई। विशाल लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम की शुरुआत काफी धीमी रही और पहले पांच ओवरों में भारतीय बल्लेबाज 15 रन बना सके थे। सातवें ओवर की दूसरी गेंद पर भारत को पहला झटका लगा। लय में नजर नहीं आ रहे सलामी बल्लेबाज शिखर धवन (7) जेम्स फॉल्कनर की गेंद पर विकेट के पीछे ब्रैड हेडिन के हाथों लपके गए।

इसके बाद बल्लेबाजी करने उतरे विराट कोहली ने रोहित शर्मा (42) के साथ दूसरे विकेट की साझेदारी में 40 रन जोड़े। शर्मा 14वें ओवर की पांचवीं गेंद पर स्लिप पर कैच थमा बैठे। शेन वाटसन ने उन्हें फिलिप ह्यूज के हाथों लपकवाया। शर्मा ने 47 गेंदों का सामना करते हुए छह चौके लगाए। शर्मा के बाद चौथे क्रम पर बल्लेबाजी करने उतरे सुरेश रैना और कोहली के बीच सबसे बड़ी भारतीय साझेदारी हुई। रैना और कोहली ने तीसरे विकेट की साझेदारी में 71 रन जोड़े। 28वें ओवर की दूसरी गेंद पर रैना फॉल्कनर का शिकार हुए। रैना का कैच जेवियर डोर्थी ने लपका। रैना ने 45 गेंदों में दो चौके और एक छक्का लगाया।

पुणे एकदिवसीय : आस्ट्रेलिया ने भारत को 72 रनों से हराया

करीब एक वर्ष बाद किंगमेकर बनकर वापसी करने वाले युवराज सिंह (7) भी कुछ खास नहीं कर सके और मिशेल जॉनसन की गेंद पर ह्यूज को कैच थमा चलते बने। भारतीय पारी की आखिरी उम्मीद के रूप में कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (19) और रविंद्र जडेजा (11) की जोड़ी ने इसके बाद संभलकर खेलते हुए छठे विकेट के लिए 26 रन ही जोड़े थे कि जडेजा फॉल्कनर के अगले शिकार बन गए। उनका कैच आस्ट्रेलियाई कप्तान जॉर्ज बैले ने लिया। अगले ही ओवर में धौनी भी मैके की गेंद पर क्लीन बोल्ड हो गए, और इसके साथ ही भारत की जीत की उम्मीदें भी ध्वस्त हो गईं। नौवें विकेट की साझेदारी में विनय कुमार (11) और भुवनेश्वर कुमार (18) ने 30 रनों की साझेदारी कर हार के अंतर को कम करने की पूरी कोशिश की। आस्ट्रेलिया की तरफ से फॉल्कनर ने तीन और मैके तथा वाटसन ने दो-दो वकेट हासिल किए। इससे पहले टॉस जीतकर बल्लेबाजी करने उतरी आस्ट्रेलियाई टीम ने कप्तान जॉर्ज बैले (85) और सलामी बल्लेबाज एरॉन फिंच (72) की बेहतरीन अर्धशतकीय पारियों की बदौलत निर्धारित 50 ओवरों में आठ विकेट पर 304 रनों का स्कोर खड़ा किया।

आस्ट्रेलिया ने शुरुआत में धीमी लेकिन बाद में तेजी लाते हुए खेल की बेहद सधी हुई शुरुआत की और पहले विकेट के लिए फिलिप ह्यूज (47) और फिंच के बीच शतकीय साझेदारी हुई। ह्यूज और फिंच ने 18.2 ओवरों में छह के औसत से 110 रन जोड़े। रविंद्र जडेजा ने जम चुकी इस जोड़ी को तोड़ा। ह्यूज अर्धशतक से तीन रन पहले जडेजा की गेंद पर सुरेशा रैना को कैच थमा बैठे। ह्यूज ने 53 गेंदों का सामना कर पांच चौके लगाए।

ह्यूज के जाने के बाद बल्लेबाजी करने आए शेन वाटसन (2) को युवराज सिंह ने अगले ही ओवर की पहली गेंद पर चलता कर दिया। वाटसन का कैच जडेजा ने लपका। दो विकेट लगातार गिर जाने के बाद बल्लेबाजी करने उतरे आस्ट्रेलियाई कप्तान जॉर्ज बैले ने अर्धशतक बनाकर खेल रहे फिंच के साथ तीसरे विकेट के लिए 33 रन ही जोड़े थे कि फिंच युवराज की गेंद पर विराट कोहली को कैच थमा बैठे। फिंच ने 79 गेंदों की अपनी पारी में आठ चौके और तीन छक्का जड़ा।

फिंच के बाद पांचवें क्रम पर बल्लेबाजी करने उतरे एडम वोग्स को भी युवराज सिंह ने सात रन के निजी योग पर रन आउट कर दिया। कप्तान बैले ने इसके बाद ग्लेन मैक्सवेल के साथ पांचवें विकेट की साझेदारी में छह ओवरों में तेजी से 42 रन जोड़े। मैक्सवेल ने 23 गेंदों में एक चौका और तीन छक्का लगाया। मैक्सवेल को विनय कुमार ने रोहित शर्मा के हाथों कैच आउट करवाया। बैले भी तेज गति से रन बनाने के चक्कर में सीमारेखा के पास रैना के हाथों लपके गए। बैले ने 82 गेंदों की अपनी पारी में 10 चौके लगाए। आस्ट्रेलिया ने अंतिम पांच ओवरों में तेज 52 रन जोड़े और स्कोर को 300 के पार पहुंचा दिया।भारत की तरफ से युवराज और अश्विन ने दो-दो विकेट हासिल किए, जबकि विनय कुमार, इशांत शर्मा और जडेजा को एक-एक विकेट हासिल हुआ।

Story first published:  Monday, October 14, 2013, 10:03 [IST]
English summary
Australia raised their game to beat India by 72 runs in the opening game of the seven match ODI series at the Maharashtra Cricket Association Stadium here Sunday.
कमेंट लिखें