Englishಕನ್ನಡമലയാളംதமிழ்తెలుగు

रांची एकदिवसीय : धोनी के सामने 'घर' में टीम को बराबरी दिलाने की चुनौती

     Published: Tuesday, October 22, 2013, 16:19 [IST]
 

रांची | भारत और आस्ट्रेलिया की क्रिकेट टीमों के बीच जारी मौजूदा श्रृंखला रोमांच के चरम को प्राप्त कर चुकी है। ऐसा नहीं है कि इसकी समाप्ति होने वाली है लेकिन अब तक खेले गए चार मैचों के माध्यम से जो उचार-चढ़ाव सामने आया है, उससे यही लगता है कि टीम इंडिया के लिए यह श्रृंखला जीतना आसान नहीं होगा। अब रांची में महेंद्र सिंह धोनी की टीम बुधवार को खेले जाने वाले चौथे एकदिवसीय मुकाबले में आस्ट्रेलिया से दो-दो हाथ करेगी। धोनी पर अपने घर में टीम को बराबरी पर लाने की चुनौती होगी। सात मैचों की एकदिवसीय सीरीज में भारत 1-2 से पीछे है। इससे पहले उसने एकमात्र ट्वेंटी-20 मैच अपने नाम किया था।

मोहाली में धोनी ने दो घंटे से अधिक समय तक विकेट पर रहकर भारत के लिए जीत की जमीन तैयार की थी लेकिन ईशांत शर्मा ने पांच मिनट के भीतर उस पर जीत रूपी इमारत को तहतनहस कर दिया। मोहाली में जीत की स्थिति में भारत रांची में हुंकार भरते हुए श्रृंखला में अपनी स्थिति मजबूत करने का प्रयास करता।ईशांत श्रृंखला के बाकी बचे मैचों के लिए अपनी जगह बचाने में सफल रहे लेकिन वह अंतिम एकादश में स्थान प्राप्त कर सकेंगे या नहीं, यह कहना मुश्किल है। धेानी झारखंड क्रिकेट संघ मैदान पर मोहम्मद समी या फिर जयदेव उनादकत को आजमा सकते हैं।

रांची एकदिवसीय : धोनी के सामने 'घर' में टीम को बराबरी दिलाने की चुनौती

इन दोनों को अब तक मौक नहीं मिला है। निराश तो भुवनेश्वर कुमार और विनय कुमार ने भी किया है लेकिन इन दोनों ने मोहाली में कुछ हद तक अच्छा प्रदर्शन किया। विनय हमेशा की तरह बलि का बकरा बने क्योंकि अंतिम ओवर में जहां मेहमान टीम को नौ रन चाहिए थे, गेंद विनय को थमाई गई थी। ऐसे में विनय पर गाज गिरने की आशंका बहुत कम दिखाई दे रही है।

भारतीय शीर्ष क्रम मोहाली में फ्लाप रहा। वैसे यह भी सही है कि आप बल्लेबाजों से हमेशा 300 रनों की अपेक्षा नहीं कर सकते। गेंदबाज भी टीम का हिस्सा होते हैं और उन पर भी टीम को जीत दिलाने की जिम्मेदारी होती है लेकिन इस सीरीज में फिलहाल भारत के गेंदबाज एक भी मौके पर ऐसा नहीं कर सके हैं। आस्ट्रेलियाई टीम ऊंचे मनोबल के साथ रांची पहुंची है और अब उसका एकमात्र लक्ष्य 3-1 की बढ़त के साथ कटक का रुख करना होगा, जहां 26 अक्टूबर को पांचवां मैच खेला जाएगा। मोहाली के हीरो रहे जेम्स फाल्कनर ही नहीं, इस टीम के हर खिलाड़ी का मनोबल ऊंचा है क्योंकि हर किसी ने अब तक इस सीरीज में अपेक्षित योगदान दिया है।

English summary
Captain Mahendra Singh Dhoni has a challenge to take India in a commanding position in bilateral series against Australia.
कमेंट लिखें