Englishಕನ್ನಡമലയാളംதமிழ்తెలుగు

कोलकाता टेस्ट: भारत को फ्रंटफुट पर ले आए रोहित, अश्विन

Posted by:
     Published: Thursday, November 7, 2013, 17:18 [IST]
 

कोलकाता| करियर के पहले ही टेस्ट मैच में शतक लगाने वाले रोहित शर्मा (नाबाद 127) और रविचंद्रन अश्विन (नाबाद 92) की बेहतरीन पारियों की मदद से भारतीय क्रिकेट टीम ने ईडन गार्डन्स स्टेडियम में वेस्टइंडीज के साथ जारी पहले टेस्ट मैच के दूसरे दिन गुरुवार को अपनी पहली पारी में छह विकेट पर 354 रन बना लिए। भारत को पहली पारी के आधार पर 120 रनों की महत्वपूर्ण बढ़त मिल चुकी है। एक समय भारत ने 83 रन पर सचिन तेंदुलकर सहित अपने पांच अहम विकेट गंवा दिए थे लेकिन इसके बाद रोहित ने कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (42) और फिर अपने करियर का चौथा अर्धशतक लगाने वाले अश्विन के साथ बहुमूल्य साझेदारियां करते हुए टीम को बैकफुट से फ्रंटफुट पर लाने का काम किया।

रोहित ने कप्तान धोनी के साथ छठे विकेट के लिए 73 रन जोड़े और फिर अश्विन के साथ 198 रनों की नाबाद साझेदारी कर चुके हैं। 194 गेंदों पर 12 चौकों और एक छक्के की मदद से शतक पूरा करने वाले रोहित ने 228 गेदों पर 16 चौके और एक छक्का लगाया है। अश्विन अब तक 148 गेंदों पर 12 चौके लगा चुके हैं और अपने करियर के दूसरे शतक से मात्र आठ रन दूर हैं। भारत को चौथी पारी में बल्लेबाजी करनी है और इस लिहाज से इन दोनों बल्लेबाजों ने अपने सूझबूझ से भारत को काफी अच्छी बढ़त दिला दी है। भारत ने 102 ओवर बल्लेबाजी की है, जिसमें गुरुवार को 92 ओवर शामिल हैं।

कोलकाता टेस्ट: भारत को फ्रंटफुट पर ले आए रोहित, अश्विन

रोहित ने अपनी पारी से ईडन को फिर से जिंदा कर दिया। एक समय सचिन के सस्ते में आउट होने के बाद ईडन में मौजूद 45 हजार के करीब दर्शक काफी निराश थे लेकिन रोहित और फिर अश्विन ने संभलकर खेलते हुए न सिर्फ टीम को अच्छी स्थिति में पहुंचाया बल्कि दर्शकों का जमकर मनोरंजन किया। रोहित ईडन में पदार्पण शतक लगाने वाले तीसरे और कुल 14वें भारतीय हैं। ईडन में इससे पहले दीपक सोधन (1952) और मोहम्मद अजहरूद्दीन (1984) ने पदार्पण करते हुए शतक लगाए थे। इस वर्ष दो भारतीय क्रिकेटर पदार्पण टेस्ट में शतक लगा चुके हैं। रोहित के अलावा इसी वर्ष मार्च में शिखर धवन ने आस्ट्रेलिया के खिलाफ मोहाली में 187 रनों की रिकार्ड पारी खेली थी।

ईडन के दर्शक अब रोहित के दोहरे शतक का इंतजार कर रहे हैं। इस खिलाड़ी ने अपनी संयम भरी पारी से उस खाई को भरने की ओर बड़ा कदम बढ़ाया है, जो सचिन के जाने से खाली होने वाला है। भारत ने भोजनकाल के ठीक बाद कप्तान धोनी का विकेट गंवाया था लेकिन उसके बाद से रोहित और अश्विन ने टीम को कोई और नुकसान नहीं होने दिया। धौनी ने अपनी 63 गेंदों की पारी में पांच चौके लगाए। इससे पहले, मैच के पहले दिन वेस्टइंडीज को 234 रनों पर समेटने के बाद भारत ने दिन की समाप्ति तक 10 ओवरों में बिना कोई विकेट गंवाए 37 रन बनाए थे। शिखर धवन 21 और मुरली विजय 16 पर नाबाद लौटे थे।

धवन अपने कल के स्कोर में दो रनों का इजाफा करने के बाद 42 के कुल योग पर शिलिंगफोर्ड द्वारा बोल्ड कर दिए गए। इसके बाद मुरली (26) भी सस्ते में आउट हुए। मुरली का विकेट 57 के कुल योग पर गिरा। तीसरे क्रम पर बल्लेबाजी के लिए आए चेतेश्वर पुजारा (17) भी कुछ खास नहीं कर सके और 79 के कुल योग पर शेल्डन कॉटरेल द्वारा विकेट के पीछे दिनेश रामदीन के हाथों लपके गए। पुजारा ने 36 गेंदों पर दो चौके लगाए। पुजारा के विकेट पर रहते ही सचिन आए थे। उस समय पूरा ईडन गार्डन्स स्टेडियम मानो जी उठा था लेकिन सचिन 41 मिनट विकेट पर बिताने के बाद जैसे ही 10 के निजी योग पर आउट हुए, ईडन में सन्नाटा पसर गया। दर्शकों को एक पल यकीन नहीं हुआ कि सचिन आउट हो गए लेकिन जब सच का सामना हुआ तो निराशा के भाव उनके चेहरों पर देखा जा सकते थे।

दर्शक सचिन से बड़ी पारी की उम्मीद कर रहे थे। इसके बाद दर्शक पवेलियन लौट रहे सचिन के सम्मान में खड़े हो गए। सचिन सिर झुकाए अपने स्ट्रोक चयन पर अफसोस करते पवेलियन लौटे। हर नजर पवेलियन छोर की ओर थी और हर नजर में सचिन की बल्लेबाजी लंबे समय तक नहीं देख पाने का अफसोस दिख रहा था। इसके बावजूद दर्शकों ने इस महान खिलाड़ी का तालियों के साथ अभिनंदन किया।

English summary
After struggling in the first two sessions, India were pushed into a strong position by Rohit Sharma's magnificent unbeaten century on debut on the second day of the first Test against West Indies.
कमेंट लिखें