Englishಕನ್ನಡമലയാളംதமிழ்తెలుగు

जोहांसबर्ग टेस्ट : भारत को गेंदबाजों ने दिलाई मैच में वापसी

     Published: Friday, December 20, 2013, 11:23 [IST]
 

जोहांसबर्ग| वांडर्स स्टेडियम में गुरुवार को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पहले टेस्ट मैच के दूसरे दिन टीम इंडिया पहली पारी में 280 रनों पर ध्वस्त हो गई, लेकिन गेंदबाजों ने दक्षिण अफ्रीका की पहली पारी में 213 रनों पर छह विकेट चटकाकर भारत को मैच में काफी हद तक वापसी करा दी। दूसरे दिन का खेल समाप्त होने पर दक्षिण अफ्रीका पहली पारी में भारत से 67 रन पीछे है, जबकि उसके चार विकेट शेष हैं। गुरुवार को तीसरे सत्र की शुरुआत से ही भारतीय गेंदबाजों ने शानदार वापसी की और तीसरे सत्र में दक्षिण अफ्रीका के पांच बल्लेबाजों को पवेलियन भेजा। हालांकि फाफ डू प्लेसिस (नाबाद 16) और वेर्नोन फिलेंडर (नाबाद 48) ने सातवें विकेट के लिए नाबाद 67 रनों की साझेदारी कर अपनी टीम को काफी हद तक संभाल लिया है।

दक्षिण अफ्रीका ने अपनी पहली पारी की सधी हुई शुरुआत की और चायकाल तक 118 रन पर सिर्फ एक विकेट गंवाया। सलामी बल्लेबाज ग्रीम स्मिथ (68) और हाशिम अमला (36) ने दूसरे विकेट के लिए 93 रनों की साझेदारी कर अपनी टीम को काफी हद तक मजबूत शुरुआत दी, लेकिन चायकाल के बाद शुरू हुए तीसरे सत्र में दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाज अपने प्रदर्शन की निरंतरता बरकरार नहीं रख सके। इशांत शर्मा और मोहम्मद समी ने एक ही ओवर में दो-दो विकेट चटकाकर दक्षिण अफ्रीकी बल्लेबाजी के मध्यक्रम को काफी हद तक झकझोर दिया।

जोहांसबर्ग टेस्ट : भारत को गेंदबाजों ने दिलाई मैच में वापसी

स्मिथ जहीर खान की गेंद पर 130 के कुल योग पर पगबाधा करार दिए गए। स्मिथ ने अपनी 119 गेंदों की पारी में 11 चौके लगाए। स्मिथ से पहले इशांत शर्मा ने एल्विरो पीटरसन (21), हाशिम अमला और जैक्स कालिस (0) के रूप में शुरुआती तीनों विकेट चटकाए। भारत की तरफ से अब तक इशांत ने तीन, समी ने दो और जहीर ने एक विकेट हासिल कर लिए हैं। इससे पहले मैच के दूसरे दिन भारत ने पहले दिन के स्कोर पांच विकेट पर 255 रन से आगे खेलना शुरू किया। कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (19) अपने निजी स्कोर में सिर्फ दो रनों का इजाफा कर सके। धौनी को विकेट के पीछे कैच कराकर मोर्ने मोर्केल ने दिन का पहला विकेट चटकाया। धौनी के जाने के बाद जैसे विकेटों की झड़ी लग गई।

अजिंक्य रहाणे (47) भी अपने पहले दिन के स्कोर में सिर्फ चार रन जोड़कर फिलेंडर के शिकार हो गए। फिलेंडर ने अगली ही गेंद पर जहीर खान को भी शून्य के निजी योग पर पवेलियन लौटा दिया। इशांत शर्मा और मोहम्मद समी भी बिना खाता खोले ही पवेलियन लौट गए। इससे पहले मैच के पहले दिन बुधवार को भारतीय टीम ने विराट कोहली (119) की संघर्षपूर्ण शतकीय पारी की बदौलत पांच विकेट पर 255 रन बनाए थे। शतकवीर कोहली 219 के कुल योग पर बुधवार को आउट होने वाले आखिरी बल्लेबाज थे। कोहली ने अपनी 181 गेंदों की पारी में 18 चौके लगाए। कोहली ने अपने 21वें टेस्ट में पांचवां शतक लगाया, और कोहली के टेस्ट करियर का यह सर्वोच्च स्कोर भी है।

भारत के लिए पहली पारी में मुरली विजय (6), शिखर धवन (13), रोहित शर्मा (14) और कप्तान धौनी कुछ खास योगदान नहीं दे सके। तीसरे विकेट के लिए हालांकि चेतेश्वर पुजारा (25) और कोहली ने 89 रनों की साझेदारी कर टीम को संभालने की भरसक कोशिश की। 113 के कुल योग पर रन आउट होने से पहले पुजारा ने 98 गेंदों का सामना कर दो चौके लगाए। कोहली ने रहाणे के साथ पांचवें विकेट के लिए भी 68 रनों की महत्वपूण साझेदारी की। दक्षिण अफ्रीका की तरफ से वेर्नोन फिलेंडर ने चार और मोर्केल ने तीन विकेट चटकाए। मोर्केल ने बेहद कसी हुई गेंदबाजी करते हुए 23 ओवरों में 1.47 के औसत से सिर्फ 34 रन दिए।

English summary
India's pace bowlers staged a dramatic turnaround with a devastating exhibition of swing bowling as South Africa suffered a stunning collapse to leave the first Test more or less on an even keel here today.
कमेंट लिखें