Englishಕನ್ನಡമലയാളംதமிழ்తెలుగు

जोहांसबर्ग टेस्ट : पुजारा का शतक, भारत को 320 रनों की बढ़त

     Published: Saturday, December 21, 2013, 11:51 [IST]
 

जोहांसबर्ग| विदेशी धरती पर पहला शतक लगाने वाले चेतेश्‍वर पुजारा (नाबाद 135) और विराट कोहली (नाबाद 77) के उम्दा अर्धशतक की बदौलत टीम इंडिया ने वांडर्स स्टेडियम में जारी पहले टेस्ट मैच के तीसरे दिन का खेल खत्म होने तक अपनी दूसरी पारी में दो विकेट पर 284 बनाकर 320 रनों की बढ़त के साथ दक्षिण अफ्रीका पर शिकंजा कस लिया है। भारत ने अपनी पहली पारी में 280 रन बनाए थे जबकि मेजबान टीम की पहली पारी 244 रनों पर सिमट गई थी। पुजारा ने अपनी 221 गेंदों की नाबाद पारी में 18 चौके लगाए हैं जबकि पहली पारी में शानदार सैकड़ा लगाकर खुद को लेकर जारी तमाम नकारात्मक अटकलों को विराम देने वाले कोहली ने 130 गेंदों पर आठ चौके लगाए हैं। पुजारा और कोहली के विकेट अब तक 191 रनों की साझेदारी हो चुकी है।

अपने अब तक के करियर में छह शतक लगा चुके पुजारा ने दो दोहरे शतक भी लगाए हैं। दो जनवरी, 2011 को टेस्ट करियर का आगाज करने वाले पुजारा ने शुक्रवार से पहले अपने पांचों शतक भारत में लगाए थे। पुजारा ने इंग्लैंड के खिलाफ अहमदाबाद में वर्ष 2012 में नाबाद 206 रन बनाए थे। इसके बाद उन्होंने मार्च 2013 में आस्ट्रेलिया के खिलाफ हैदराबाद में 204 रनों की पारी खेली। वह हैदराबाद में ही 2012 में न्यूजीलैंड के खिलाफ 159, मुम्बई में 2012 में ही इंग्लैंड के खिलाफ 135 और मुम्बई में ही 2013 में वेस्टइंडीज के खिलाफ 113 रनों की पारी खेली थी। पुजारा ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ अहम परिस्थितियों में 168 गेंदों का सामना कर 13 चौकों की मदद से शतक पूरा किया और भारत को मजबूत स्थित में ले जाने का काम किया।

जोहांसबर्ग टेस्ट : पुजारा का शतक, भारत को 320 रनों की बढ़त

कोहली का आगमन मुरली विजय (39) का विकेट गिरने के बाद हुआ। मुरली ने अपनी शानदार पारी के दौरान 94 गेंदों पर पांच चौके लगाए। उन्होंने पुजारा के साथ दूसरे विकेट के लिए 70 रन जोड़े। मुरली जैक्स कैलिस की गेंद पर विकेट के पीछे लपके गए। मुरली के अलावा भारत ने शिखर धवन (15) का विकेट गंवाया है। धवन वेरनॉन फिलेंडर की गेंद पर कैलिस के हाथों कैच हुए। धवन के आउट होने के बाद मेजबान टीम को उस समय करारा झटका लगा जबकि उसके प्रमुख तेज गेंदबाज मोर्ने मोर्कल चोटिल होकर मैदान से बाहर चले गए। मोर्कल के टखने में चोट लगी है। उन्हें जांच के लिए अस्पताल ले जाया गया, जहां उनका स्कैन किया जाएगा। स्कैन से ही पता चल सकेगा कि वह चौथे दिन भारत की दूसरी पारी में गेंदबाजी कर सकेंगे या नहीं।

मोर्कल को भोजनकाल से पहले ही चोट लगी। वह क्षेत्ररक्षण करते हुए चोटिल हुए। अपनी ओर आती गेंद को उठाने के प्रयास में उनका टखना मुड़ गया। मोर्कल गेंद को उठाकर विकेटकीपर तक फेंकने में सफल रहे लेकिन इसके बाद वह दर्द के कराहते हुए गिर पड़े। दक्षिण अफ्रीकी टीम के फिजियो ने मैदान पर उनके हालत की जानकारी ली और फिर अपने सहयोगियों की मदद से उन्हें लेकर बाहर गए। चोटिल होने से पहले मोर्कल भारत की दूसरी पारी में सिर्फ दो ओवर गेंदबाजी कर सके थे। इससे पहले, भारतीय गेंदबाजों ने दक्षिण अफ्रीका की पारी 244 रनों पर समेट दी। मेजबान टीम ने दूसरे दिन स्टम्प्स तक छह विकेट पर 213 रन बनाए थे। फाफ दू प्लेसिस 17 और फिलेंडर 48 रनों पर नाबाद लौटे थे। प्लेसिस 20 रन के निजी योग पर जहीर खान का शिकार हुए जबकि जहीर ने ही फिलेंडर को 59 के निजी योग पर आउट किया। फिलेंडर ने 86 गेंदों का सामना कर सात चौके लगाए।

फिलेंडर का विकेट 226, डेल स्टेन (10) का विकेट 237 और प्लेसिस का विकेट 239 रनों पर गिरा। मोर्कल को जहीर ने सात के निजी योग पर बोल्ड किया। स्टेन इशांत शर्मा का शिकार बने। जहीर और इशांत ने चार-चार सफलता हासिल की जबकि मोहम्मद समी को दो सफलता मिली।

English summary
Cheteshwar Pujara slammed a sparkling unbeaten 135 as India gained firm control of the first cricket Test against South Africa.
कमेंट लिखें